Sunday, 2 February 2014

Valentine special..असर गुलाबो का होने लगा है ....


मेरी  नज़रे पहले भी खिचती थी                                            

गुलाबो कि रंगत......!


 पर ये गुलाब

 सिर्फ गुलाब 

लगते थे... 

अब ये गुलाब एक खामोश कहानी लगने लगे है....! 

जब देखती हूँ इन्हे.. 

ये तुम्हारे प्यार कि निशानी 

लगने लगे हैं ...!


तुम्हारे दिए गुलाबो कि पंखुड़िया 

आज फिर मेरे ख्यालो को महकाने लगी हैं ....!


कि हम पर असर गुलाबो का होने लगा है 

धड़कने तेज होने लगी हैं.. 

दिन प्यार के चलने लगे है … ..!

13 comments:

  1. तुम्हारे दिए गुलाबो कि पंखुड़िया
    आज फिर मेरे ख्यालो को महकाने लगी हैं ....!
    ... शायद ऐसा ही होता है

    ReplyDelete
  2. दिन प्यार के चलने लगे है …
    भावनाओं की समझ और अदाएगी ही तो प्यार है,
    खूबसूरत पेशकश

    ReplyDelete
  3. ये तो वैसे भी प्यार का महीना है ... ओर लाल गुलाब का ...
    प्रेम तो हवा में नज़र आ रहा है ...

    ReplyDelete
  4. बहुत सुंदर प्रस्तुति.
    इस पोस्ट की चर्चा, मंगलवार, दिनांक :- 04/02/2014 को चर्चा मंच : चर्चा अंक : 1513 पर.

    ReplyDelete
  5. वाह...दिन प्यार के चलने लगे हैं... बहुत खूब सुषमा जी

    ReplyDelete
  6. बहुत सुन्दर रचना....
    :-)

    ReplyDelete
  7. सुंदर ... रचना
    बसंत पंचमी कि बधाई.../मेरे भी ब्लॉग पर आये

    ReplyDelete
  8. सुंदर ... रचना
    बसंत पंचमी कि बधाई.../मेरे भी ब्लॉग पर आये

    ReplyDelete