Thursday, 14 February 2013

आखिरी ख़त .......happy Valentine's day......

ख़त दर ख़त खतों का सिलसिला चलता रहा......मैंने तुम्हारी को अपने शब्दों में समेट कर अपने खतों में बिखेर दिया................. हर इक ख़त में जैसे मैंने तुम्हे जी लिया है......तुम्हे खतों में समेट कर कही दिल में अपने छिपा लिया है...........इन खतों का सिलसिला तो यूँ ही थम जायेगा.......पर तुम्हारी यादो का काफिला  मेरे साथ जिन्दगी भर जायेगा ...............इतना कुछ कहने बाद भी बहुत कुछ ऐसा रह गया है.............जो मैं तुमसे कह नही पायी............जिसे महसूस तो कर लिया........पर उसे शब्दों में रच नही पायी..............प्यार की कोई इन्तहां नही होती....................प्यार कही खतम नही होता........इसे न तो कोई इक दिन न ही......कोई इक ख़त बता सकता है.....ये सिर्फ महसूस किया जा सकता है.............और महसूस कराया जा सकता है.................मुझे मंजिले मिले न मिले सिर्फ राहे तुम्हारे ही साथ होनी चाहिए...................!!!                  
                                                                                                           आहुति 
                          
                                                     

38 comments:

  1. बहुत खूब रही खतों की यह किश्तें


    सादर

    ReplyDelete
  2. बहुत सुन्दर ...
    हमसफ़र प्यारा हो तो राह आसान होती है...
    शुभकामनाएं..
    अनु
    पहली लाइन में एक शब्द miss कर दिया है शायद ...मैंने तुम्हारी-----को... प्लीस चेक.

    ReplyDelete
  3. चहक रहे हैं बाग में, कलियाँ-सुमन अनेक।
    धीरज और विवेक से, चुनना केवल एक।।
    --
    बहुत सुन्दर!
    आपकी पोस्ट का लिंक कल शुक्रवार के चर्चा मंच पर भी होगा!

    ReplyDelete
  4. बहुत-बहुत शुभकामनायें ...आप के लिखे खतों में ..आपके बसे अहसासों को !

    ReplyDelete


  5. मंज़िलें मिले न मिले
    सिर्फ राहे तुम्हारे ही साथ होनी चाहिए...................!!!

    दुआ है , मंज़िलें भी मिले ... ... ...
    :)
    आदरणीया सुषमा जी
    भावपूर्ण सुंदर कविता के लिए आभार !


    बसंत पंचमी सहित
    सभी उत्सवों-मंगलदिवसों के लिए
    हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं-मंगलकामनाएं !
    राजेन्द्र स्वर्णकार

    ReplyDelete
  6. मंज़िलें मिले न मिले
    सिर्फ राहे तुम्हारे ही साथ होनी चाहिए...................!!!
    बहुत सही ... मन को छूती पोस्‍ट

    ReplyDelete
  7. इन खतों के माध्यम से प्यार के हर अहसास को जी लिया गया है

    बहुत उम्दा ...

    ReplyDelete
  8. .मुझे मंजिले मिले न मिले सिर्फ राहे तुम्हारे ही साथ होनी चाहिए...................!!!

    bahut khoob ...!!

    ReplyDelete
  9. अच्छा रहा ये सिलसिला।

    ReplyDelete
  10. .प्यार की कोई इन्तहां नही होती....................प्यार कही खतम नही होता........इसे न तो कोई इक दिन न ही......कोई इक ख़त बता सकता है.....ये सिर्फ महसूस किया जा सकता है.............और महसूस कराया जा सकता है.................मुझे मंजिले मिले न मिले सिर्फ राहे तुम्हारे ही साथ होनी चाहिए...................!!!

    यादगार पलों संग खतों का यह सिलसिला बहुत ही खुबसूरत लगा ....

    ReplyDelete
  11. प्यार के एहसास को हर वक़्त महसूस करना बड़ा सुखद होता है... शुभकामनाएँ.

    ReplyDelete
  12. खुबसूरत रचना ......... www.sriramroy.blogspot.in

    ReplyDelete
  13. बहुत ही सुंदर प्रस्तुति,आभार.

    नज़रों ने नज़रों से नजरें मिलायीं
    प्यार मुस्कराया और प्रीत मुस्कराई

    प्यार के तराने जगे गीत गुनगुनाने लगे
    फिर मिलन की ऋतू आयी भागी तन्हाई

    दिल से फिर दिल का करार होने लगा
    खुद ही फिर खुद से क्यों प्यार होने लगा

    ReplyDelete
  14. सच कहा आपने
    प्यार को एक दिन और एक ख़त में नहीं समेटा जा सकता ....
    उम्दा प्रस्तुति !

    ReplyDelete
  15. अहसासों की सुन्दर बानगी...

    ReplyDelete
  16. अपने भीतर के महीन अहसासों को
    बेहद सुन्दरता से व्यक्त किया


    ReplyDelete
  17. सुन्दर एहसास

    ReplyDelete
  18. I savour, lead to I found just what I used to be having a look for.
    You have ended my 4 day lengthy hunt! God Bless you man.
    Have a great day. Bye

    Feel free to surf to my webpage :: http://canoaqv.webs.com/

    ReplyDelete
  19. I seldom leave comments, but i did some searching
    and wound up here "आखिरी ख़त .......happy Valentine's day......".
    And I do have a couple of questions for you if you do not mind.
    Is it only me or does it give the impression like some of these responses come across like they are left by brain dead folks?

    :-P And, if you are posting on other online social sites,
    I would like to keep up with everything fresh you have to post.
    Would you make a list of the complete urls of all
    your social pages like your linkedin profile,
    Facebook page or twitter feed?

    Feel free to visit my blog squeeze page

    ReplyDelete
  20. Appreciating the hard work you put into your site and in depth information
    you offer. It's awesome to come across a blog every once in a while that isn't the
    same unwanted rehashed material. Excellent read! I've saved your site and I'm including your RSS feeds to my Google account.



    Here is my webpage voyance

    ReplyDelete
  21. Very good post. I absolutely appreciate this website.

    Continue the good work!

    my homepage buy 25000 twitter followers

    ReplyDelete
  22. I'll right away seize your rss feed as I can not in finding your e-mail subscription hyperlink or e-newsletter service. Do you have any? Kindly permit me recognize so that I could subscribe. Thanks.

    Here is my web blog pinterest social media strategy
    my webpage :: instagram page url

    ReplyDelete
  23. अच्छी लगी यह ख़त श्रंखला
    Gyan Darpan

    ReplyDelete
  24. वहा बहुत खूब बेहतरीन

    मेरे ब्लॉग का भी अनुशरण करे

    आज की मेरी नई रचना आपके विचारो के इंतजार में

    तुम मुझ पर ऐतबार करो ।

    ReplyDelete
  25. पर तुम्हारी यादो का काफिला मेरे साथ जिन्दगी भर जायेगा.

    ये काफिला यूँ ही चलता रहे. शुभकामनायें.

    ReplyDelete
  26. हमने सनम को खत लिखा....खत मे लिखा ... ऐ दिलरुबा, दिल की गली, शहर-ए-वफ़ा.... बहुत खूबसूरत

    ReplyDelete
  27. सुन्दर एहसास, बहुत खूब बेहतरीन

    ReplyDelete
  28. It's appropriate time to make some plans for the future and it's time to be happy.
    I have read this put up and if I may I desire to recommend you few interesting things or tips.
    Maybe you can write next articles referring to this article.
    I want to learn even more things about it!

    Feel free to visit my web page; voyance par telephone

    ReplyDelete
  29. Great site you have here but I was wanting to know if you knew of any message
    boards that cover the same topics talked about here?
    I'd really like to be a part of online community where I can get feedback from other knowledgeable individuals that share the same interest. If you have any suggestions, please let me know. Bless you!

    Here is my webpage: voyance

    ReplyDelete
  30. I know this web page offers quality dependent articles
    and extra data, is there any other web site which offers these
    kinds of information in quality?

    Visit my web blog ... voyance par telephone

    ReplyDelete
  31. ये काफिला यूँ ही चलता रहे. शुभकामनायें.

    ReplyDelete
  32. Eveгуthing is very open with a vеry clеar deѕcription of
    the challengeѕ. Ιt wаs definitely informatiѵe.
    Your sіte іs very helpful. Μany
    thanks for shагing!

    Μy ωeblog voyance grаtuіte *http://www.futur-voyance.com*

    ReplyDelete