Saturday, 10 November 2012

चलो पंक्तियाँ दियो की लगा देते है...!!!


चलो पंक्तियाँ दियो की लगा देते है,                                                                                                     
जहाँ तक हद है नज़रों की,
अँधेरा वहां तक मिटा देते है....

अपनों के लिए बहुत कुछ किया है अभी तक
एक दिया किसी अजनबी के लिए,
जला कर उसे भी अपना बना लेते है.... 

एक दिया जला कर किसी के बिखरे हुए,
ख्वाबों को समेट कर 
उसकी आखों में,
कुछ और ख्वाब सजा देते है....

एक दिया जला कर किसी के उदास चहेरे,
पर एक मुस्कान ला देते है....

एक दिया जला कर किसी के गुजरे हुए,
खुबसूरत लम्हों को आज में मिला देते है....

एक दिया जला कर किसी राहों में,
उसे मंजिल से मिला देते है....

एक दिया जला कर हमसे रूठे हुए
उजालो को मना लेते है,,,,,,

चलो पंक्तियाँ दियो की लगा देते है
जहाँ तक हद है नज़रों की,
अँधेरा वहां तक मिटा देते है........!!!

24 comments:

  1. एक दिया जला कर किसी के गुजरे हुए,
    खुबसूरत लम्हों को आज में मिला देते है.,,,,,उम्दा पंक्तियाँ,,

    दीपक नगमे गा रहे,मस्ती रहे बिखेर
    सबके हिस्से है खुशी,हो सकती है देर.

    दीपावली की हार्दिक शुभकामनाए,,,,
    RECENT POST:....आई दिवाली,,,100 वीं पोस्ट,

    ReplyDelete
  2. वाह सुषमा जी ऐसे ही दिये जला कर हम कितनों की मदद कर सकते हैं । आस का एक दिया हो तो ममंजिल। मुस्कुरायेगी ही

    ReplyDelete
  3. दीवाली की बहुत बहुत शुभकामनाएँ

    ReplyDelete
  4. बहुत सुंदर रचना | अच्छा संदेश दिया आपने |

    ReplyDelete
  5. एक दिया जला कर ,गुज़री यादों को
    हसीं बना लेते है .....
    दीपावली की शुभकामनायें!

    ReplyDelete
  6. बहुत सुंदर ..... दीपावली की शुभकामनायें

    ReplyDelete
  7. बहुत सुन्दर...सार्थक रचना....सच्चे अर्थों में यूँ ही मनाएं दिवाली...
    आपको दीपावली की ढेर सारी शुभकामनाएं..

    अनु

    ReplyDelete
  8. अच्छी रचना, बहुत सुंदर

    धनतेरस की बहुत बहुत शुभकमानएं

    एक नजर मेरे नए ब्लाग TV स्टेशन पर डालें

    http://tvstationlive.blogspot.in/2012/11/blog-post_10.html?spref=fb

    ReplyDelete
  9. सुन्दर विचार

    ReplyDelete
  10. बहुत खूबसूरत प्रस्तुति
    मन के सुन्दर दीप जलाओ******प्रेम रस मे भीग भीग जाओ******हर चेहरे पर नूर खिलाओ******किसी की मासूमियत बचाओ******प्रेम की इक अलख जगाओ******बस यूँ सब दीवाली मनाओ

    ReplyDelete
  11. अपनों के लिए बहुत कुछ किया है अभी तक
    एक दिया किसी अजनबी के लिए,
    जला कर उसे भी अपना बना लेते है....
    बहुत प्यारी चाह , दीये की लौ की तरह

    ReplyDelete
  12. दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं..

    ReplyDelete
  13. आओ दीप से दीप जला लें प्रेम की ज्योति जगा लें वही सच्ची दिवाली हैं जहां हर किसी के नाम खुशियों का दीप जले बहुत सुन्दर प्रस्तुति दिवाली की शुभ कामनाएं

    ReplyDelete
  14. बहुत सुन्दर प्रस्तुति।
    त्यौहारों की शृंखला में धनतेरस, दीपावली, गोवर्धनपूजा और भाईदूज का हार्दिक शुभकामनाएँ!

    ReplyDelete
  15. बहुत ही खूबसूरत !
    दीपोत्सव की हार्दिक शुभकामनाएँ!

    सादर

    ReplyDelete
  16. दीपावली पर खुबसूरत अहसास उजाले का...शुभकामनाएं...

    ReplyDelete
  17. बेह्तरीन अभिव्यक्ति .बहुत अद्भुत अहसास.सुन्दर प्रस्तुति.
    दीपावली की हार्दिक शुभकामनाये आपको और आपके समस्त पारिवारिक जनो को !

    मंगलमय हो आपको दीपो का त्यौहार
    जीवन में आती रहे पल पल नयी बहार
    ईश्वर से हम कर रहे हर पल यही पुकार
    लक्ष्मी की कृपा रहे भरा रहे घर द्वार..

    ReplyDelete
  18. बहुत खूबसूरत.
    दीपोत्सव की हार्दिक शुभकामनाएँ

    ReplyDelete
  19. परहित सरिस धरम नहीं भाई।

    पर पीड़ा सम नहि अधमाई।।

    सुंदर संक्षिप्त प्यारा सन्देश

    हरे माँ लक्ष्मी हर का क्लेश

    दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं ...

    ReplyDelete



  20. ஜ●▬▬▬▬▬ஜ۩۞۩ஜ▬▬▬▬▬●ஜ
    ♥~*~दीपावली की मंगलकामनाएं !~*~♥
    ஜ●▬▬▬▬▬ஜ۩۞۩ஜ▬▬▬▬▬●ஜ
    सरस्वती आशीष दें , गणपति दें वरदान
    लक्ष्मी बरसाएं कृपा, मिले स्नेह सम्मान

    **♥**♥**♥**● राजेन्द्र स्वर्णकार● **♥**♥**♥**
    ஜ●▬▬▬▬▬ஜ۩۞۩ஜ▬▬▬▬▬●ஜ

    ReplyDelete



  21. ஜ●▬▬▬▬▬ஜ۩۞۩ஜ▬▬▬▬▬●ஜ
    ♥~*~दीपावली की मंगलकामनाएं !~*~♥
    ஜ●▬▬▬▬▬ஜ۩۞۩ஜ▬▬▬▬▬●ஜ
    सरस्वती आशीष दें , गणपति दें वरदान
    लक्ष्मी बरसाएं कृपा, मिले स्नेह सम्मान

    **♥**♥**♥**● राजेन्द्र स्वर्णकार● **♥**♥**♥**
    ஜ●▬▬▬▬▬ஜ۩۞۩ஜ▬▬▬▬▬●ஜ

    ReplyDelete
  22. बहुत सुंदर..आपको सपरिवार दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं!

    ReplyDelete
  23. जहाँ तक हद है नज़रों की,
    अँधेरा वहां तक मिटा देते है

    v nice thought

    ReplyDelete