Wednesday, 4 April 2012

सिर्फ महसूस किये जाते है......!!!


कुछ एहसासों को लब्ज़ नही मिलते,
वो सिर्फ महसूस किये जाते है......
उन्हें शब्द हम क्या दे...उन्हें अर्थ हम क्या दे.....? 
जो अनजाने में इस दिल से जुड़ जाते है....
साथ होते है फिर भी तन्हाई सी रहती है,
बाते तब भी होती है..
जब खामोश हम हो जाते है.....
फिर कहाँ कुछ कहने-सुनने को कुछ बाकी रहता है,
जब एहसासों से ही एहसास समझे जाते है....
नाम उसे हम क्या दे?
जिसकी एक झलक दिख जाने भर से,
दिल को मीठी सी ख़ुशी होती है.....
क्या बतलायेंगे किसी को....?
जो न पूरी सच्ची होती है...जो न पूरी झूठी होती है......
यादे कुछ यूँ भी बन जाती है.....
जो याद नही आती सिर्फ दिल को महसूस होती है.... 
गुजरे लम्हों के साथ.. कुछ है जो गुजरता जा रहा है... 
हलचल सी मची है दिल में.....
ख़ामोशी है...तन्हाई है.... 
फिर भी साथ मेरे है कोई.....
जो सपना सा... अपना सा है....
हर पल इस दिल को एहसास दिला रहा है..... 


46 comments:

  1. जब एहसासों से ही एहसास समझे जाते है....
    नाम उसे हम क्या दे?
    जिसकी एक झलक दिख जाने भर से,
    दिल को मीठी सी ख़ुशी होती है.....

    बहुत शानदार लाइन्स हैं सुषमा जी।

    बहुत ही अच्छा लिखा है आपने।

    सादर

    ReplyDelete
  2. कहने को तो कह देते
    हम भी गर जुबां खुलती
    बस एहसास ही कर पाते हैं
    और ये मुए लफ्ज़ भी तो साथ नहीं देते...!!

    बहुत खूब....!!

    ReplyDelete
  3. एहसासों को पूर्ण आहूति दे पाना वाकई कठिन है ...!!
    सुंदर रचना ....!!
    शुभकामनायें ....!!

    ReplyDelete
  4. जब एहसासों से ही एहसास समझे जाते है....
    नाम उसे हम क्या दे?
    जिसकी एक झलक दिख जाने भर से,
    दिल को मीठी सी ख़ुशी होती है.....
    क्या बतलायेंगे किसी को....?
    as predected beautiful lines
    with emotions and feeligs including
    thought.

    ReplyDelete
  5. जो अनजाने में इस दिल से जुड़ जाते है....
    साथ होते है फिर भी तन्हाई सी रहती है,
    बाते तब भी होती है..
    जब खामोश हम हो जाते है.....
    khubsurat lines bhawanaon ke sath jahan
    prem hi jhalakata hai. chahe tanhai hi kyon na ho.

    ReplyDelete
  6. कल 06/04/2012 को आपकी यह पोस्ट नयी पुरानी हलचल पर लिंक की जा रही हैं.आपके सुझावों का स्वागत है .
    धन्यवाद!

    ReplyDelete
  7. कुछ एहसास बिना लफ्ज़ के ही खूबसूरत होते हैं .... तुम्हारी रचनाओं में अब अनकहे की प्रबलता होती है और दर्द हो या ख़ुशी , तभी आकार लेते हैं

    ReplyDelete
  8. ख़ामोशी है...तन्हाई है....
    फिर भी साथ मेरे है कोई.....
    यही एहसास तो सार्थक एहसास है ...
    बहुत खूब

    ReplyDelete
  9. कुछ एहसासों को लब्ज़ नही मिलते,
    वो सिर्फ महसूस किये जाते है......
    बिलकुल सच कहा आपने ....उन्हें शब्द देकर उनका विस्तार ख़त्म हो जाता है
    The deepest thoughts are better left 'unexpressed'!!!

    ReplyDelete
  10. कुछ एहसासों को लब्ज़ नही मिलते,
    वो सिर्फ महसूस किये जाते है......
    बिलकुल सच कहा आपने ....उन्हें शब्द देकर उनका विस्तार ख़त्म हो जाता है

    ReplyDelete
  11. बहुत सुन्दर भा्वो को संजोया है. सुषमा जी बधाई.. खुबसूरत अभिव्यक्ति के लिए..

    ReplyDelete
  12. जिसकी एक झलक दिख जाने भर से,
    दिल को मीठी सी ख़ुशी होती है.....
    क्या बतलायेंगे किसी को....?
    जो न पूरी सच्ची होती है...जो न पूरी झूठी होती है......


    बहुत सुन्दर एहसास सुषमा जी ...

    ReplyDelete
  13. अच्‍छे शब्‍द संयोजन के साथ सशक्‍त अभिव्‍यक्त...सुषमा जी।

    संजय भास्कर
    आदत....मुस्कुराने की
    http://sanjaybhaskar.blogspot.com

    ReplyDelete
  14. कुछ एहसास ..सिर्फ महसूस किए जा सकते है !
    ये ही सच है!

    ReplyDelete
  15. बाते तब भी होती है..
    जब खामोश हम हो जाते है.....
    फिर कहाँ कुछ कहने-सुनने को कुछ बाकी रहता है,
    जब एहसासों से ही एहसास समझे जाते है....

    ख़ामोशी भी बोलती है... बहुत खूबसूरत...

    ReplyDelete
  16. बाते तब भी होती है..
    जब खामोश हम हो जाते है.....
    फिर कहाँ कुछ कहने-सुनने को कुछ बाकी रहता है,
    जब एहसासों से ही एहसास समझे जाते है....

    .....सच्चे अहसासों को शब्दों की कब आवश्यकता रहती है...बहुत भावपूर्ण रचना...

    ReplyDelete
  17. कुछ एहसासों को लब्ज़ नही मिलते,
    वो सिर्फ महसूस किये जाते है......
    उन्हें शब्द हम क्या दे...उन्हें अर्थ हम क्या दे.....?
    जो अनजाने में इस दिल से जुड़ जाते है....
    साथ होते है फिर भी तन्हाई सी रहती है,
    बाते तब भी होती है..

    बहुत अच्छा लिखा आपने

    ReplyDelete
  18. सच है कुछ बातें ... कुछ रिश्ते ... कुछ एहसास ... कुछ ख्वाब ... बस महसूस करने के लिए होते हैं ... लाजवाब ...

    ReplyDelete
  19. अति सुन्दर लिखा है |

    ReplyDelete
  20. सच! एहसास सिर्फ महसूस किए जा सकते हैं....

    ReplyDelete
  21. maano dil ki baatein ... zubaan par ... bahut khoob .. !!

    ReplyDelete
  22. जो न पूरी सच्ची होती है...जो न पूरी झूठी होती है......
    यादे कुछ यूँ भी बन जाती है.....
    जो याद नही आती सिर्फ दिल को महसूस होती है....
    गुजरे लम्हों के साथ.. कुछ है जो गुजरता जा रहा है..
    wah sunder bhav
    rachana

    ReplyDelete
  23. जो महसूस हो जाये उनको शब्द की ज़रुरत ही क्या
    बहुत खूब प्रस्तुति

    ReplyDelete
  24. ahsas hamare apne hote hai aur shayad shabd eske liye kam pad jaate hai

    ReplyDelete
  25. यह महसूस किया जा सकता है बताया नहीं जा सकता ... खूबसूरत प्रस्तुति

    ReplyDelete
  26. वाह..खूबसूरत नज़्म..!!

    ReplyDelete
  27. साथ होते है फिर भी तन्हाई सी रहती है,
    बाते तब भी होती है..
    जब खामोश हम हो जाते है.....very nice

    ReplyDelete
  28. बहुत ही सुन्दर रचना.

    ReplyDelete
  29. Ehsaas hai Toh INSAAN hai.....:):)

    ReplyDelete
  30. फिर भी साथ मेरे है कोई.....
    जो सपना सा... अपना सा है....
    हर पल इस दिल को एहसास दिला रहा..very nice...

    ReplyDelete
  31. कुछ एहसासों को लब्ज़ नही मिलते,
    वो सिर्फ महसूस किये जाते है......
    उन्हें शब्द हम क्या दे...उन्हें अर्थ हम क्या दे.....?
    वाह || बहुत ही गहरे अहसास लिए पंक्तिया है..

    ReplyDelete
  32. जिसकी एक झलक दिख जाने भर से,
    दिल को मीठी सी ख़ुशी होती है.....
    क्या बतलायेंगे किसी को....?
    जो न पूरी सच्ची होती है...जो न पूरी झूठी होती है......
    एकदम सच्ची कहा है आपने.....
    दिल को छु लेनेवाली पंक्तिया है...

    ReplyDelete
  33. एहसासों को जब शब्द मिल जायेंगे तो वो एहसास नहीं रहेंगे .....

    ReplyDelete
  34. ख़ामोशी है...तन्हाई है....
    फिर भी साथ मेरे है कोई.....बहुत ही सुन्दर

    ReplyDelete
  35. खामोशी से खामोशी बात करती है ...अहसासों की दुनिया भी अजीब है ।

    ReplyDelete
  36. भाव -भरी रचना हार्दिक बधाई .........

    ReplyDelete
  37. बहुत सुन्दर रचना, बधाई.

    ReplyDelete
  38. बहुत ही खूबसूरत अहसास....

    ReplyDelete
  39. बहुत खूबसूरत लगी पोस्ट....शानदार।

    ReplyDelete