Tuesday, 18 October 2011

मेरे होने का सबब होता है...... !!


तुम्हारा मेरी जिन्दगी में होना                                       
मुझे शब्दों से जोड़े रखता है...


तुम्हारे ख्वाबो का होना
मेरी बेरंग तस्वीरो में रंग भरता है...


तुम्हारा हर जवाब 
मेरे सवालो का अर्थ होता है....


तुम्हारी धड़कनो का धड़कना
मेरे होने का सबब होता है...... 

37 comments:

  1. तुम्हारी धड़कनो का धड़कना
    मेरे होने का सबब होता है......
    bas yahi pyaar hai

    ReplyDelete
  2. बहुत खूब सुषमा जी!

    सादर

    ReplyDelete
  3. तुम्हारी धड़कनो का धड़कना
    मेरे होने का सबब होता है...... !

    मर्मस्पर्शी पंक्तियाँ .....बहुत कह दिया इन दो पंक्तियों में आपने ..!

    ReplyDelete
  4. Bahut hi sundar or laajwaab likha hai,,,,
    jai hind jai bharat

    ReplyDelete
  5. Pyar me bhigi bahut hi sunder prastuti.

    badhai :)

    ReplyDelete
  6. तुम्हारी धड़कनो का धड़कना
    मेरे होने का सबब होता है......

    bahut pasand aayi.

    www.poeticprakash.com

    ReplyDelete
  7. ''तुम्हारे ख्वाबो का होना
    मेरी बेरंग तस्वीरो में रंग भरता है...''
    गहरे भाव।
    शब्‍दों का बेहतर इस्‍तेमाल।

    ReplyDelete
  8. aapki choti si kavita man ko bha gayi .
    bahut hi sundar .

    ReplyDelete
  9. किसी की धडकनों में खुद धडकना ... कमाल की रचना है ... बधाई ...

    ReplyDelete
  10. बेहतरीन प्रस्तुती....

    ReplyDelete
  11. very nice.......
    tumhara har jwab mere swalo ka arth hota h.....

    ReplyDelete
  12. तुम्हारी धड़कनो का धड़कना
    मेरे होने का सबब होता है......
    यह सबब कायम रहे ..
    सुन्दर रचना

    ReplyDelete
  13. तुम्हारी धड़कनो का धड़कना
    मेरे होने का सबब होता है......
    कायम रहे यह सबब
    सुन्दर एहसास

    ReplyDelete
  14. तुम्हारा हर जवाब
    मेरे सवालो का अर्थ होता है....


    तुम्हारी धड़कनो का धड़कना
    मेरे होने का सबब होता है...
    बहुत ही सुन्दर भाव पूर्ण प्रस्तुति...सुषमा जी आभार...

    ReplyDelete
  15. सुन्दर प्रस्तुति के लिए बधाई.

    ReplyDelete
  16. बहुत सुन्दर प्रस्तुति, आभार

    ReplyDelete
  17. दिल को छूती छोटी पर शानदार पोस्ट|

    ReplyDelete
  18. खुबसूरत प्रस्तुति ...

    ReplyDelete
  19. khoobsurat ehsaas...

    तुम्हारी धड़कनो का धड़कना
    मेरे होने का सबब होता है......

    badhai.

    ReplyDelete
  20. खूबसूरत एहसास लिए शानदार रचना. आभार.

    ReplyDelete
  21. बहोत अच्छी प्रस्तुति , बधाई हो | धन्यवाद |

    ReplyDelete
  22. बहुत ही अच्छी कविता |शुभ दीपावली

    ReplyDelete
  23. bahut hi khubsurat panktiyan....

    ReplyDelete
  24. सुन्दर भाव लिए रचना के लिए बधाई |
    दीपावली के लिए हार्दिक शुभ कामना |
    आशा

    ReplyDelete
  25. tum ho to main hun......

    bahut sundar aahuti ji

    ReplyDelete
  26. तुम्हारे ख्वाबो का होना
    मेरी बेरंग तस्वीरो में रंग भरता है...
    छोटी रचना लेकिन, हर शब्द बेहद भावपूर्ण!

    यदि वक्त के जंजीरों से आजादी मिले तो मेरे ब्लाग पर भी आयें!
    दीपावली की शुभकामनायें...।

    ReplyDelete
  27. apni si lagi kavita kai bhav mere jaise hai jo apkki kalam se nikle jo meri se bhi nikle...

    acha laga

    ReplyDelete