Friday, 5 August 2011

एक लब्ज़ है "दोस्ती"..!!

एक लब्ज़ है "दोस्ती"                              
अपने अन्दर सारी कायनात समेटे हुए,
इसकी परतो में जिंदगी की अनगिनत,
सच्चाईया लिपटी हुई हैं..
ये जिंदगी के विरानो में,
खिला एक फूल हैं...
जिसकी खुशबू से संसार महकता है....!!!

21 comments:

  1. Fantastic!!!!!!!!!!!

    beautiful background song too :)

    regards.

    ReplyDelete
  2. दोस्ती जब किसी से की जाये
    दुश्मनों की भी राय ली जाये

    ReplyDelete
  3. कुदरत की सबसे नायाब सौगात है दोस्ती
    वो खुशनसीब है जिसने करी सच्ची दोस्ती
    तकदीर की लकीर सी होती है दोस्ती
    करना तो हर हाल में निभाना दोस्ती

    ReplyDelete
  4. sach men.....dosti se badkar kuchh bhi nahin......

    ReplyDelete
  5. सत्य वचन - "तेरे जैस यार कहाँ...." सुनवाने के लिए धन्यवाद्

    ReplyDelete
  6. बहुत सुन्दर गीत .../और भावमयी पंक्तियां

    ReplyDelete
  7. sach kaha hai, lekin "dost milte hai yahan dil ko dukhane ke liye............

    ReplyDelete
  8. dosti hoti hi anmol hai......

    ReplyDelete
  9. दोस्तो मुबारक है तुमको दिवस दोस्ती का.
    मनाये दिल से ये, उत्सव दोस्ती का.
    चाहे हो दूर जितना भी, इक दूसरे से.
    भूल जाना नही तुम, महत्व दोस्ती का.

    "एक सच्चा दोस्त ही दोस्त की खुशी की वज़ह होता है.."

    Salam dosti...bahut acchi rachana

    ReplyDelete
  10. सुन्दर प्रस्तुति बधाई और शुभकामनायें आहुति जी

    ReplyDelete
  11. बहुत सुन्दर रचना , बहुत सुन्दर भावाभिव्यक्ति

    ReplyDelete
  12. इक लफ्ज़-ऐ-मोहब्बत का अदना सा फ़साना है
    सिमटे तो दिल-ऐ-आशिक फैले तो ज़माना है
    ये किस का तसव्वुर है ये किस का फ़साना है
    जो अश्क है आंखों में तसबीह का दाना है ...

    ReplyDelete
  13. कल 09/08/2011 को आपकी एक पोस्ट नयी पुरानी हलचल पर लिंक की जा रही हैं.आपके सुझावों का स्वागत है .
    धन्यवाद!

    ReplyDelete
  14. वाह ...बहुत खूब कहा है आपने ।

    ReplyDelete
  15. दोस्ती से बढ़कर कुछ नहीं...
    सुंदर रचना...

    ReplyDelete
  16. इसी का नाम है जिंदगी ......

    ReplyDelete
  17. सच है दोस्ती एक ऐसा नाम है जिस पर सब कुछ कुर्नाब करने को मन करता है ...

    ReplyDelete